शार्क टैंक इंडिया क्या है (What is shark tank India)

यदि आप कोई बिज़नस को आगे बढाना चाहते है, तो सबसे पहले आपको अच्छी खासी रकम की आवश्यकता होगी| इस समय सबसे बेस्ट प्लेटफोर्म shark tank इंडिया है | शार्क टैंक इंडिया एक बिज़नस रियलिटी शो है जहाँ नये उद्यमी अपना बिज़नस आईडिया बताते या समझाते है| जिसको कुछ जज देखते और समझाते है|

और यदि उनको आईडिया अच्छा लगता है या उनको लगता है कि ये आईडिया अच्छी कमाई दे सकता है तो वह उसमे इन्वेस्ट करते है | इसमें उपस्थित जज काफी सफल व्यवसाई होते है जो अपनी कोई बड़ा बिज़नस मर्केट में ला चुके होते है| आज के समय में shark tank इंडिया कई सारे छोटे छोटे बिज़नस को सफल बना रहा है | shark tank इंडिया शो केवल इंडिया में ही नहीं बल्कि कई और देशो में भी चल रहा है|

Who is शार्क टैंक इंडिया क्या है Shark tank sharks(कौन है ये shark tank के सात शार्क्स)

shark tank इंडिया शो को जज करने के लिए सात शार्क्स को रखा गया है जो बिज़नस आइडियाज को सुनते समझते तथा उसमे इन्वेस्ट करते है|

  1. Ashneer Grover:– अश्नीर ग्रोवर सबसे प्रख्यात शार्क के रूप में है | ये ashneer grover bharatpe तथा मद (मनेज़िंग डायरेक्टर) है |इन्होने ीत दिल्ली से अपनी स्टडी कि है | आज कंपनी का लगभग २.५ अरब डॉलर का वैल्यूएशन है ashneer grover net worth, ashneer grover lifestyle checkherprofile.
  1. Vineeta Singh :- विनीता सिंह शुगर कास्मेटिक (Vineeta singh stake in sugar cosmetics) की सीईओ तथा को-फाउंडर है |इंडिया में सबसे तेज़ी में बढते ब्यूटी ब्राण्ड में से एक है शुगर कास्मेटिक | इन्होने अपनी स्टडी IIT मद्रास तथा IIM अहमदाबाद से पूरी की |
  2. अमन गुप्ता :- अमन गुप्ता अपनी कंपनी बोट के को- फाउंडर है बोट के प्रोडक्ट्स अमेज़न फ्लिप्कार्ट जैसी शोपिंग साइट्स पर उपलब्ध है |यह कंपनी हैडफ़ोन ईरफ़ोन स्पीकर जैसे प्रोडक्ट्स के लिए फेमस है | (Aman Gupta company)
  3. अनुपम मित्तल :- अनुपम मित्तल शादी डॉट कॉम के फाउंडर तथा सीईओ है | जिसमे लगभग 30 मिलियन लोग जुड़े हुए है | इनकी और कंपनी जैसे मकान डॉट कॉम, मोज एप भी है | इन्होने ओला टैक्सी में भी 2% की
    हिस्सेदारी ली है |
  4. नमिता थापर :- नमिता थापर पुणे एम्क्योर फरमा में इंटरनेशनल मेडिसिन कंपनी की सीईओ है | ये दवा उद्योग में सबसे सफल व्यवसायी है | इनका सालाना लगभग चार हजार करोड़ से ज्यादा का टर्नओवर है |
  5. ग़ज़ल अलघ :- ग़ज़ल अलघ एक बेस्ट ब्यूटी ब्रांड मामाअर्थ कि सीईओ तथा फाउंडर है |इस कंपनी की स्थापना 2016 में हुई | इन्होने अपनी ग्रेजुएशन पंजाब यूनिवर्सिटी से BCA के रूप में की | न्यूयॉर्क स्टडी ऑफ़ आर्ट्स से
    इन्होने फिगरेटिव आर्ट्स कि स्टडी की |
  6. पीयूष बंसल:- पीयूष बंसल सबसे लोकप्रिय ब्राण्ड लंसकार्ट के सीईओ तथा को-फाउंडर है |2007 में पीयूष ने एक कंपनी स्टार्ट कि मगर वो कंपनी नहीं चली इस कारण उसे बंद कर दिया | इन्होने माइक्रोसॉफ्ट जैसी मल्टीनेशनल कंपनी में भी काम किया | २०१० में इन्होने लेंसकार्ट की स्थापना की इनकी नेटवर्थ लगभग १.२ बिलियन डॉलर है | इन्होने अपनी ग्रेजुएशन मैकगिल यूनिवर्सिटी से की |

शब्दकोष जोकि shark tank इंडिया से जुड़े हुए है :-

  1. इक्विटी:- इक्विटी शब्द का अर्थ है किसी कंपनी का मालिकाना हिस्सा या भाग | जब कोई प्रतिभागी अपना बिज़नस आईडिया बताता है तो अपनी कंपनी का कुछ हिस्सा कंपनी में इन्वेस्ट करने पर देता है जिसे हम इक्विटी कहते है |जैसे कोई प्रतिभागी अपनी कंपनी का पांच प्रतिशत हिस्से के बदले एक करोड़ इन्वेस्ट करने की
    मांग रखता है |
  2. वैल्यूएशन:- वैल्यूएशन का सीधा सीधा मतलब होता है मूल्यांकन कि आपका टर्नओवर कितना जायेगा | जैसे पांच प्रतिशत की इक्विटी के बदले एक करोड़ की प्रतिभागी मांग करता है तो इसका वैल्यूएशन बीस करोड़ हुआ जाकर | अगर शार्क टंकको उसका बिज़नस उसकी वैल्यूएशन के हिसाब से कम लगता है तो शार्क्स उससे सवाल जवाब करते है जैसे उसका बिज़नस कितना पुराना है , लास्ट ईयर कितना सेल रहा इत्यादि |
  3. ग्रॉस सेल्स :- ग्रॉस सेल का मतलब होता है आपने एक साल में कितना माल या प्रोडक्ट का सेल किया या बेचा | जैसे अपने एक सॉफ्ट ड्रिंक की बोतल २५ रुपए के हिसाब से एक साल में २ लाख बोतल का सेल किया तो आपका ग्रॉस सेल्स ५० लाख रुपये हुई |
  4. नेट सेल्स :- यदि हम ग्रॉस सेल्स में से कुछ चीजो के रूपये अलग कर दे तो बचा हुआ पैसा नेट सेल्स कहलाता है |जैसे ग्रॉस सेल्स ५० लाख की मानी तो २ लाख का ऑफर डिस्काउंट में कट गया 3 लाख प्रोडक्ट डैमेज होने पर कट गया तो हमारा नेट सेल्स ४५ लाख का हुआ |
  5. रेवेन्यू :- रेवेन्यू का सीधा सीधा मतलब अनेक सोर्सेज से पैसा जोड़ना होता है जैसे अपना नेट सेल्स,इनवेस्टमेंट से तथा अपनी इनकम से पैसे जोड़ना |
  6. नेट रेवेन्यू:– नेट रेवेन्यू का तात्पर्य सारे छोटे से बड़े खर्चो को अलग करके जो पैसे कंपनी को बचता है उसे नेट रेवेन्यू कहते है जैसे प्रोडक्ट डैमेज नेट डिस्काउंट इत्यादि कोई भी इन्वेस्टर किसी बिज़नस में नेट रेवेन्यू को बहुत ध्यान देकर समझता है क्युकी कई बार छोटे छोटे बिज़नस में नेट सेल्स तो अच्छी होती है लेकिन उसके अन्य खर्च नेट सेल्स से ज्यादा चले जाते है तो ओवरआल बिज़नस घाटे में चला जाता है |
  7. प्री- रेवेन्यू :-कोई भी बिज़नस शुरु करने से पहले जो बिजनेसमैन होता है वो अपने बिज़नस का एक मोटा मोटा आकलन करता है की वो सालाना इतना पैसा इस बिज़नस कमा लेगा जिसे प्री- रेवेन्यू कहते है |
  8. स्केलेबिलिटी :- स्केलेबिलिटी का सिंपल सा मतलब होता है ग्रोथ ऑफ़ बिज़नस आप अपने प्रोडक्ट की सेल्स कैसे बड़ायेगे मार्किट की डिमांड को कैसे पूरा करेंगे, क्वालिटी कैसे इम्प्रोव करेगे इत्यादि सब चीजों से स्केलेबिलिटी तय कि जाती है |
  9. पेटेंट :- यदि अपने किसी नयी चीज का इन्वेंशन किया उस नयी चीज को अपने नाम पर रजिस्टर कराना ही पेटेंट कहलाता है | पेटेंट मतलब कोई थर्ड पार्टी बिना उसकी परमिसन के उस चीज का कोई भी या किसी भी प्रकार से उपयोग नहीं कर सकता है |
  10. ओवरहेड :- किसी भी प्रोडक्ट को बनाने में जो भी माल उपयोग में आता है जैसे बिस्कुट कि बात करे तोआटा मैदा, शुगर साल्ट इत्यादि का उपयोग करते है इसके अलावा जो भी खर्च आता है जैसे गोदाम खर्च, लेबर खर्च, डिलेवरी खर्च, मशीनओ का खर्च इत्यादि को ओवरहेड कास्ट कहते है|

See also“how-to-start-perfume-business”

0 thoughts on “शार्क टैंक इंडिया क्या है (What is shark tank India)”

Leave a Comment