MSME Loan क्या होता है? (What is MSME Loan?)

MSME Loan देश की अर्थव्यवस्था के लिए बहुत जरुरी है जो शुक्ष्म , लघु एवं माध्यम उद्योग (MSME) है , वो हमारे देश में लिए
बहुत महत्वपूर्ण है | शुक्ष्म , लघु एवं माध्यम उद्योग (MSME) विकास बिल-2005 (ये नियम 12/05/2005 को संसद द्वारा प्रस्तुत
किया गया था ) इस अधनियम को राष्ट्रपति द्वारा स्वीकृत मिलने के बाद अधनियम – 2006 बना दिया गया | इस अधनियम को
MSME – 2006 नाम दिया गया |

MSME उद्यम SECTOR होता है यह सेक्टर दो तरह का होता है
  1. सर्विस सेक्टर
  2. विनिर्माण यानि मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर|

सर्विस सेक्टर वह सेक्टर कहलाता है जिसमे सेवा प्रदान करने का काम होता है और जो सेक्टर प्रोडक्ट बनाने का काम करते है वो
विनिर्माण यानि मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर कहलाते है|

MSME की परिभाषा निम्न है—

शुक्ष्म उद्योग (Micro Interprise) — शुक्ष्म उद्योग में 1 करोड़ का इनवेस्टमेंट और 5 करोड़ के टर्नओवर यानि Micro
Interprise का दर्जा दिया गया है | ये दोनों सेक्टर में उपयोगी है सर्विस सेक्टर और विनिर्माण यानि मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर
दोनों में |

लघु उद्योग (Small Interprise)

लघु उद्योग में 10 करोड़ का इनवेस्टमेंट और 50 करोड़ के टर्नओवर यानि Small
Interprise का दर्जा दिया गया है | सर्विस सेक्टर और विनिर्माण यानि मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर दोनों में |

मध्यम उद्योग (Medium Interprise)

माध्यम उद्योग में 20 करोड़ का इनवेस्टमेंट और 100 करोड़ का टर्नओवर
यानि Medium Interprise का दर्जा दिया गया है | सर्विस सेक्टर और विनिर्माण यानि मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर दोनों में |
MSME Sectors के bussiness का संचालन सही तरीके से हो सके इसलिए MSME के लिए केंद्र सरकार प्रयासरत है |

MSME Loan कैसे मिलता है ? (How to get MSME Loan)

जिस तरह से अन्य loan मिलता है उसी प्रकार से MSME Loan भी मिलता है | लघु उद्योग लोन के लिए भी एक तय प्रक्रिया पूरी
करनी होती है |जो लोन अप्लाई कर रहा है उसकी जाँच करना अनिवार्य होता है और उसके कागजो के दस्तावेजो को कलेक्ट करना
अनिवार्य होता है |
पात्रता की जाँच कर के और उनके सभी कागजी दस्तावेज़ कलेक्ट कर के आवेदन कर देना होता है | आप MSME लोन के लिए दोनों
तरह से आवेदन कर सकते है ऑनलाइन व ऑफलाइन|

MSME लोन किसे मिलता है|

MSME लोन के लिए आवेदक कि जाँच कर लेना जरुरी होता है क्योंकि पात्रता से ये पता चलता है कि लोन मिलेगा या नही मिलेगा
| MSME लोन के सभी बैंको द्वारा अलग – अलग मापदंड़ो का पालन किया होता है | पात्रता के मापदंड कुछ इस तरह है|

आवेदक कि उम्र 18 से 75 वर्ष के बीच में होनी चाहिए
bussiness न्यूनतम 3 साल पुराना होना चाहिए
 CA प्रमाणित / आडिटेड बैलेंस शीत होनी चाहिए

MSME लोन के लिए जरुरी कागज़ी दस्तावेज़ –

आधार कार्ड
 पहचान प्रमाण पपत्र जैसे – वोटर ID कार्ड
 आयु प्रमाण पत्र
पैन कार्ड
 पिछले 12 months का बैंक स्टेटमेंट
 bussiness रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट
GST Certificate
 नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट

किस योजना में MSME Loan मिलता है –

MSME लोन की मुहीम चलाना केंद्र सरकार के तरफ से इसलिए है कि देश में स्वरोजगार का माहोल किया जा सके | इसी से सरकार
द्वारा ऐसी बहुत सी योजनायें बनायीं जा रही है | जिसमे MSME लोन दिया जाता है | जिस सरकारी योजनाओ में MSME Loan
लडिया जाता है वो निम्न है |

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना
क्रेडिट गारंटी फण्ड ट्रस्ट (सीजीटीएमएसई)
प्रधानमंत्री इम्प्लोय्मेंट जनरेशन प्रोग्राम
महिला उद्यमी योजना
माइक्रो – क्रेडिट योजना
मुद्रा कार्ड
क्रेडिट गारंटी कार्ड
 इक्विमेंट फाइनेंस योजना

इन सभी योजनाओ के तहत MSME लोन प्राप्त किया जा सकता है |

know about this-https://vyaparidea.com/pre-wedding-videography-business-kaise-shuru-kare/

0 thoughts on “MSME Loan क्या होता है? (What is MSME Loan?)”

Leave a Comment